Pradhaanacharya ko Hindi me Avedan Patra (Prarthana Patra) - प्रधानाचार्य को दंड (जुर्माना) माफी के लिए प्रार्थना पत्र लिखिए - Write an application in Hindi to your Headmaster requesting him to wave your penalty (fine)

 

Hindi Application | Pradhanacharya ko Aavedan Patra

Write an application in Hindi to your Headmaster requesting him to wave your penalty (fine)

दिनांक : . . . . . . .
सेवा में, 
श्रीमान प्राचार्य महोदय,
केंद्रीय विद्यालय, 
किशनगंज (बिहार)

द्वारा : वर्गाध्यापक महोदय

महाशय,
विनम्र निवेदन है कि पिछले कई दिनों से मेरा छोटा भाई बुखार, खाँसी व ठंड से पीड़ित था। इसी कारण १० तारीख को मुझे मम्मी की सहायता हेतु छोटे भाई की देख-भाल करनी थी और भाई के दवा लाने के लिए बाहर जाना पड़ा था। 

उपरोक्त परिस्थितियों के कारण मैं उस दिन विद्यालय आ न सकी और समय पर विद्यालय शुल्क जमा नहीं कर पाई जिसके लिए मैं आपसे क्षमा-प्रार्थी हूँ।

अतः, मैं आपसे प्रार्थना करती हूं कि मेरी परिस्थिति के विवशता को ध्यान में रखते हुए मुझ पर लगाये गए यह दंड (विलम्बशुल्क) को माफ कर आज मुझे विद्यालय शुल्क जमा करने की अनुमति देने की कृपा की जाए। 

आपकी आज्ञाकारि शिष्या,
सोनाली सुमन
वर्ग - . . . . . ., क्रमांक - . . . . . 

 Click on the links below to find - 


No comments:
Write comments

Google+