Class IX, Kritika Bhag 1, NCERT (CBSE) Hindi Guide - Chapter 2 मेरे संग की औरतें - Extra Important Questions

 

मेरे संग की औरतें 

Kritika Bhag 1, Class 9, NCERT (CBSE) Hindi Guide

पाठ्य-पुस्तक के प्रश्न-अभ्यास 
प्रश्न ६: 'शिक्षा बच्चों का जन्मसिद्ध अधिकार है' - इस दिशा में लेखिका के प्रयासों का उल्लेख करें |
उत्तर: शिक्षा बच्चों का जन्मसिद्ध अधिकार है | जिस बच्चे का जन्म हुआ है, उसे उचित विद्यालय में शिक्षा मिलनी ही चाहिए | यदि कहीं शिक्षा की व्यवस्था नहीं है तो उसके लिए उचित प्रवंध किया जाना चाहिए | 
लेखिका कर्णाटक के छोटे से कस्बे बगलकोट में थीं | वहां उसके दो बच्चों को पढ़ाने की समुचित व्यवस्था नहीं थी | अतः उसने एक अच्छा स्कूल खोलवाने की भरपूर कोशिश कीं | पहले उसने पास के कैथोलिक बिशोप से प्रार्थना की कि वे वहां एक स्कूल खोलें | परंतु बिशोप तैयार नहीं हुए | तब उन्हों ने अपनी कोशिशों से, कुछ उत्साही लोगों को साथ लेकर वहां एक अच्छा स्कूल खुलवाया |     
प्रश्न ७: पाठ के आधार पर लिखिए कि जीवन में कैसे इंसानों को अधिक श्रद्धा भाव से देखा जाता है ? 
उत्तर: इस पाठ से स्पष्ट है कि ऊंची भावना वाले दृढ़ संकल्पी लोगों को श्रद्धा से देखा जाता है | जो लोग सदभावना से व्यवहार करते हैं तथा आवश्यकता पढ़ने पर गलत रूढ़ियों को तोड़ डालने की हिम्मत रखतें हैं, समाज में उनका खूब आदर सम्मान होता है | 
लेखिका की नानी इसलिए श्रद्धेया बनी क्योंकि उसने परिवार और समाज से विरोध लेकर भी अपनी पुत्री को किसी क्रांतिकारी से व्याहने की बात कही | इस लिए वह सबकी पूज्या बन गयी | लेखिका की परदादी इसलिए श्रद्धेया बनी क्योंकि उसने दो धोतियों से अधिक संचय न करने का संकल्प किया था | उसने परम्परा के विरूद्ध लड़के की बजाय लड़की होने की मन्नत माँगी | लेखिका की माता इसलिए श्रद्धेया बनी क्योंकि उसने देश की आज़ादी के लिए कार्य किया | कभी किसी से झूठ नहीं बोला | कभी किसी की गोपनीय बात को दूसरे को नहीं बताया | 
ये सभी व्यक्तित्व सच्चे थे, लीक से परे थे तथा दृढ़-निश्चयी थे | इस कारण इनका सम्मान हुआ | इन्हें श्रद्धा मिली |

CBSE Hindi Kritika Bhag 1 - Sample Questions

प्रश्न १: पाठ की लेखिका का नाम लिखें |
उत्तर: पाठ की लेखिका नाम है - "मृदुला गर्ग" |
प्रश्न २: यह पाठ किस शैली में है ?
उत्तर: यह पाठ एक नए प्रकार की शैली में लिखा हुआ एक संस्मरणात्मक गद्ध है | यह एक स्त्री प्रधान निबंध है |
प्रश्न ३: यह पाठ किस विषय पर केंद्रित है ?  
उत्तर: परंपरागत तरीके से जीते हुए भी लीक से हठकर कैसे जिया जा सकता है, यह पाठ ऐसी औरतों पर केंद्रित है |  
प्रश्न ४: चोर माँ की किस बात से प्रभावित हुआ ?
उत्तर: चोर लेखिका की माँ की उदारता, आत्मीयता और क्षमा से प्रभावित हुआ | वह स्वयं को चोर तथा निंदनीय मानता था | उसके अन्दर भी चोर था | परंतु जब उसने माँ की सदभावना को देखा तो उसके मन में अपने प्रति ग्लानी तथा माँ के प्रति श्रद्धा जाग उठी | अतः वह उनसे बहुत प्रभावित हुआ |  

1 comment:
Write comments

More From Us