CBSE (CCE) Hindi Guide | Class 9 NCERT Guide (Kshitij) | दो बैलों की कथा - Sample Questions

 


NCERT (CBSE) Class IX Hindi (Kshitij) - दो बैलों की कथा - Text Book Exercise Solutions [Read]
Sample Questions
प्रश्न १: गधे को गधा कहने के पीछे क्या कारण होते हैं?
उत्तर: गधे को गधा कहने के पीछे दो कारण होते हैं -

  • उसका मुर्ख होना
  • सीधा और सहनशील होना।
प्रश्न २: गधे की कौन-सी विशेषता अन्य पशुओं से भिन्न है?
उत्तर: गधे की अत्यधिक सहनशीलता, सरलता, संतोष-वृत्ति, सुख-दुःख को एक समान मानने की भावना उसे अन्य पशुओं से भिन्न करती है। अन्य जानवर गधे के समान सरल, सीधे, अक्रोधी और अत्यंत सहनशील नहीं होते।
प्रश्न ३: सच्चे मित्रों की क्या पहचान होती है? क्या हीरा-मोती सच्चे मित्र हैं?
उत्तर: सच्चे मित्र आपस में खूब घुल-मिलकर रहते हैं। वे कभी-कभी आपस में धौल-धप्पा, शरारत या कुलेल-क्रीड़ा भी करते हैं। इससे उनका प्रेम बढ़ता है। वे गहरे मित्र बनते हैं। प्रेमचंद के शब्दों में - "इसके बिना दोस्ती कुछ फुसफुसी, कुछ हल्की-सी रहती है, जिस पर कुछ विश्वास नहीं किया जा सकता।"
हीरा-मोती भी गहरे मित्र हैं। वे इकठ्ठे खाते-पीते हैं। प्रेम-प्रदर्शन के लिए एक-दूसरे को सूंघते और चाटते हैं। खेल-खेल में एक-दूसरे को धकेलते हैं, सींग से सींग मिलाकर ठेलाठेली करते हैं। आपस में जोर-आजमाइश करते हैं। दूसरे को बिगरता देखकर स्वयं पीछे हट जाते हैं।
हीरा-मोती सच्ची मित्रता का प्रदर्शन अनेक स्थलों पर करते हैं। वे दूसरे को संकट से बचाने के लिए ख़ुद संकट सहन कर लेते हैं। इस प्रकार हीरा-मोती सच्चे मित्र हैं।
प्रश्न ४: गधे और ऋषि-मुनि में क्या समानता होती है?
उत्तर: गधे और ऋषि-मुनिओं में निम्नलिखित समानताएँ होती हैं -

  • सुख-दुःख में एक समान रहना।
  • सरल तथा सीधे होना
  • अत्यधिक सहनशील तथा अक्रोधी होना।
  • हर हाल में संतुष्ट रहना।
प्रश्न : निम्नलिखित मुहावरों का वाक्यों में प्रयोग कीजिए:
उत्तर:
जी तोड़ काम करना - भारतीय श्रमिक जी-तोड़कर काम करते हैं

गम खा जाना - भारत के मजदूर इतने स्वाभिमानी हैं की वे गम खा जाते हैं, हाय-तौबा नहीं मचाते।
इंट का जबाब पत्थर से देना - यह दुनिया उसी को सम्मान देती है जो इंट का जबाब पत्थर से देना जानता है।
दाँतों पसीना आना - क्रिकेट के मैदान से कुत्ते को बाहर खदेड़ने में माली को दाँतों पसीना गया

कसर उठाना - मालिक के कहने पर हम हर काम कर देते हैंकिसी प्रकार की कोई कसर नहीं उठा रखते

1 comment:
Write comments